सुषमा, जेटली, फर्नांडीस को पद्म पुरस्कारों से सम्मानित किया गया

नयी दिल्ली| पूर्व केंद्रीय मंत्रियों जॉर्ज फर्नांडीस, अरुण जेटली और सुषमा स्वराज तथा मॉरीशस के पूर्व राष्ट्रपति अनिरुद्ध जगन्नाथ को सोमवार को राष्ट्रपति भवन में आयोजित दो नागरिक अलंकरण समारोहों में उनकी असाधारण और विशिष्ट सेवा के लिए मरणोपरांत पद्म विभूषण पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

भारत में महिला मुक्केबाजी की पहचान एम .सी. मैरी कॉम, पेजावर स्वामीजी के नाम से प्रसिद्ध उडुपी के श्री श्री विश्वेश तीर्थ स्वामीजी (मरणोपरांत) को भी राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने पद्म विभूषण से सम्मानित किया।

इस समारोह में उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह सहित अन्य गणमान्य लोग उपस्थित थे। गोवा के मुख्यमंत्री रह चुके, पूर्व रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर (मरणोपरांत), महिंद्रा समूह के अध्यक्ष आनंद महिंद्रा, सुंदरम-क्लेटन समूह के अध्यक्ष वेणु श्रीनिवासन तथा नगालैंड के पूर्व मुख्यमंत्री एस सी जमीर को पद्म भूषण दिया गया।

बैडमिंटन स्टार पीवी सिंधू, कश्मीरी राजनीतिक नेता मुजफ्फर हुसैन बेग, लेह की पहली स्त्री रोग विशेषज्ञ सेरिंग लैंडोल, द्विभाषी लेखक मनोज दास (मरणोपरांत), तमिलनाडु के सामाजिक कार्यकर्ता कृष्णम्मल जगन्नाथन भी पद्म भूषण पुरस्कार पाने वालों में शामिल थे।

बॉलीवुड स्टार कंगना रनौत, फिल्म निर्माता करण जौहर, टेलीविजन और फिल्म निर्माता एकता कपूर, चंडीगढ़ स्थित पीजीआईएमईआर के वरिष्ठ प्रोफेसर दिगंबर बेहरा, अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रसिद्ध भारतीय शास्त्रीय नृत्य प्रतिपादक इंदिरा पीपी बोरा को पद्म श्री से सम्मानित किया गया। साल 2020 और 2021 के लिए दो पद्म पुरस्कार समारोहों का आयोजन सुबह और शाम में किया गया।

प्रदान किये गये गए पुरस्कारों में सात पद्म विभूषण, 16 पद्म भूषण और 122 पद्म श्री पुरस्कार वर्ष 2020 और 2021 के लिए दिए गए। पद्म पुरस्कार तीन श्रेणियों में दिए जाते हैं - पद्म विभूषण, पद्म भूषण और पद्मश्री जो गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर प्रतिवर्ष घोषित किए जाते हैं।

पद्म विभूषण असाधारण और विशिष्ट सेवा के लिए, पद्म भूषण उच्च क्रम की विशिष्ट सेवा के लिए और पद्मश्री किसी भी क्षेत्र में विशिष्ट सेवा के लिए दिया जाता है। पद्म विभूषण से सम्मानित होने वालों में पूर्व केंद्रीय मंत्रियों जॉर्ज फर्नांडीस (मरणोपरांत), अरुण जेटली (मरणोपरांत), सुषमा स्वराज (मरणोपरांत) और हिंदुस्तानी शास्त्रीय एवं अर्द्ध-शास्त्रीय गायक पंडित छन्नूलाल मिश्र शामिल हैं।

कोविंद ने फर्नांडीस को एक अनुभवी राजनेता और ट्रेड यूनियनवादी करार दिया और कहा कि वह ऐसे चैंपियन थे जिन्होंने गरीबों और वंचितों के उत्थान के लिए अपना जीवन समर्पित कर दिया।’’

यह पुरस्कार फर्नांडीस की पत्नी लैला कबीर को मिला। राष्ट्रपति ने जेटली को एक उत्कृष्ट सांसद और एक प्रतिष्ठित अधिवक्ता करार दिया, जिन्होंने न्यायिक सुधारों, चुनावी सुधारों और प्रगतिशील सामाजिक और आर्थिक कानूनों में महत्वपूर्ण योगदान दिया। यह पुरस्कार जेटली की पत्नी संगीता जेटली ने प्राप्त किया।

कोविंद ने कहा कि सुषमा एक दूरदर्शी नेता थीं, जिनकी जड़ें भारतीय परंपराओं में गहरी थीं। उन्होंने कहा कि वह महिलाओं के सशक्तिकरण की प्रतीक थीं। यह पुरस्कार उनकी बेटी बांसुरी स्वराज को मिला। राष्ट्रपति ने मैंगलोर के एक नारंगी विक्रेता हरेकला हजब्बातथा साइकिल मैकेनिक मोहम्मद शरीफ को भी पद्मश्री प्रदान किया। हरेकला ने अपने गांव में स्कूल बनाने के लिए पैसे बचाए और शरीफ ने पूरी गरिमा के साथ लावारिस शवों का अंतिम संस्कार किया।

भोपाल गैस त्रासदी के पीड़ितों के लिए न्याय की लड़ाई के लिए जाने जाने वाले भोपाल के अब्दुल जब्बार खान (मरणोपरांत) को भी पद्मश्री से सम्मानित किया गया। रतलाम की मदर टेरेसा के रूप में जानी जाने वाली स्त्री रोग विशेषज्ञ लीला जोशो को मध्य प्रदेश के आदिवासी, ग्रामीण और शहरी मलिन बस्तियों में मातृ मृत्यु दर को कम करने में उनके योगदान के लिए पद्मश्री दिया गया।

इसके अलावा कर्नाटक की पर्यावरणविद् तुलसी गौड़ा को 30,000 से अधिक पौधे लगाने और पिछले छह दशकों से पर्यावरण संरक्षण गतिविधियों में शामिल रहने के लिये यह पुरस्कार प्रदान किया गया। प्रधानमंत्री ने एक ट्वीट में कहा, ‘‘वर्ष 2020 और 2021 के लिए पहले पद्म पुरस्कार समारोहों में भाग लिया। मुझे यह देखकर बेहद खुशी हुई कि जमीनी स्तर पर उपलब्धि हासिल करने वालों को जनता की भलाई के लिए उनके अनुकरणीय प्रयासों के लिए पहचाना जा रहा है।

उन सभी को बधाई जिन्हें पद्म पुरस्कारों से सम्मानित किया गया है। राष्ट्रपति कोविंद ने जगन्नाथ (मरणोपरांत) को पद्म विभूषण प्रदान किया, जिन्होंने ‘‘मॉरीशस और भारत के बीच विशेष संबंधों को और बेहतर करने में महती योगदान दिया था।’’

पद्मश्री पुरस्कार संथाली के प्रसिद्ध साहित्यकार दमयंती बेशरा, टेलीविजन और फिल्म अभिनेत्री सरिता जोशी, संगीतकार अदनान सामी खान को भी दिया गया। भारतीय हॉकी टीम की कप्तान रानी रामपाल और प्रमुख भारतीय महामारी विज्ञानी रमन गंगाखेडकर भी पद्मश्री पाने वालों में शामिल थे।

Post a Comment

Previous Post Next Post