अमित शाह का सपना हुआ पूरा,जम्मू- कश्मीर में गठित हुई 4000 युवा पंचायत

गृहमंत्री अमित शाह  सवा दो साल के बाद जम्मू-कश्मीर आये हैं। सुरक्षा समीक्षा बैठक के बाद उनका कार्यक्रम यूथ क्लब के  युवाओं के साथ था,गृह मंत्री ने कहा मैं जम्मू-कश्मीर के युवाओं से मिल कर बहुत बहुत आनंद और सुकून का अनुभव करता हूं। गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि जम्मू-कश्मीर में पहले पत्थरबाजी की घटनाएं होती थी लेकिन अब ऐसा नहीं होता है। उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर को भ्रष्टाचार ने दीमक की तरह नुकसान पहुंचाया है। कुछ लोगों और परिवारों तक ही योजनाएं पहुंचती थी। अब ऐसा नहीं है 370 हटने के बाद विकास के द्वार सभी के लिए खुले हैं।

युवाओं को संबोधित करते हुए क्या क्या बोले गृहमंत्री

युवाओं को संबोधित करते हुए कहा कश्मीर में युवाओं को मौका मिले इसलिए अच्छा डिलिमिटेशन भी होगा, डिलिमिटेशन के बाद चुनाव भी होगा और फिर से स्टेटहुड का स्टेटस भी वापिस मिलेगा। मैंने गृह मंत्री के नाते जो वादा किया था वो जरूर पूरा होगा। आतंक कम हुआ है और घाटी में अब पथराव देखने को नहीं मिलता। घाटी में बदलाव को कोई रोक नहीं सकता। गौरतलब है कि गृह मंत्री ने कई बार कश्मीर के युवाओं के भविष्य को लेकर अपनी चिंता को सार्वजनिक मंचों से व्यक्त किया है।

यूथ क्लब के बल पर तैयार किया विकास का नया मॉडल

युवाओं के  समग्र कल्याण और विकास कार्यों में सहभागिता को बढाने के लिए पूरे प्रदेश में में युवा क्लबों का गठन किया गया है। इसके माध्यम से युवाओं को स्वयंसेवी कार्यक्रम से समाज में सार्थक बदलाव लाने का मौका मिलेगा। पिछले 2 महीनों में पूरे प्रदेश में करीब चार हजार यूथ क्लब के गठन किया गया है।
 
युवा क्लबों के जिलेवार आंकड़ों पर अगर बात करे तो अनंतनाग में 335 युवा क्लब, जम्मू में 305, बांदीपोरा में 151, डोडा में 237, बारामूला में 402, कठुआ में 257, बडगाम में 296, किश्तवाड़ में 111, गांदरबल में 126, पुंछ में 229, कुलगाम में 178, राजौरी में 315 युवा क्लब हैं। प्रदेश में कुल 4239 युवा क्लब बने हैं।

Post a Comment

Previous Post Next Post