कम्पाइलर (Compiler)

कम्पाइलर  (Compiler)

यह अनुवादक प्रोग्राम होता है जो उच्चस्तरीय भाषा के निर्देशों को समान रूप से मशीनी कोड 01 में बदलता है उपयोगकर्ता के द्वारा उच्चस्तरीय भाषा में लिखा गया प्रोग्राम को मूल प्रोग्राम कहते हैं। इस मूल प्रोग्राम को मशीनी कोड में बदला जाता है तो इसे आब्जेक्ट प्रोग्राम कहते हैं। विभिन्न उच्चस्तरीय भाषाओं में लिखे गये प्रोग्रामों के लिए भिन्न भाषा के कम्पाइलर की आवश्यकता होती है।

उदाहरणतया FORTRAN कम्पाइलर केवल FORTRAN भाषा में लिखे गये प्रोग्रामों का अनुवाद करने में समर्थ है। यह पास्कल या अन्य किसी उच्चस्तरीय भाषा में लिखे गये प्रोग्राम का अनुवाद नहीं कर सकता।

कम्पाइलर  (Compiler)
                    मूल प्रोग्राम                            आब्जेक्टर प्रोग्राम                                   अनुवादक

कम्पाइलर  (Compiler)

भिन्न उच्चस्तरीय भाषाओं के लिए भिन्न कम्पाइलर

कम्पाइलर एक बड़ा प्रोग्राम होता है जो द्वितीयक संग्रहण इकाई में स्थाई रूप से उपस्थित होता है। कम्पाइलर प्रोग्राम के सभी पदों का विश्लेषण करता है और यदि उनमें कोई वाक्य रचना की गलती होती है तो उसके विषय में सूचना देता है।

जैसे-

  • यह गलत अक्षर है।
  • सूचनाओं का सही क्रम नहीं है।
  • वाक्य रचना गलत है।

उच्चस्तरीय भाषा में लिखे गये प्रोग्राम में यदि वाक्य रचना की एक भी गलती रह जाती है तो कम्पाइलर प्रोग्राम को मशीनी कोड में नहीं बदलता। कम्पाइलर सम्पूर्ण प्रोग्राम को पढ़ता है और मूल प्रोग्राम में उपस्थित वाक्य रचना की समस्त गलतियों को बताता है। यह तार्किक कमियों को नहीं पहचानता है। कम्पाइलर द्वारा अनुवादित प्रोग्राम को अलग से फाइल में रखा जाता है जिसे एक्जीक्युटेबल फाइल कहते हैं। इसे सीधे उपयोग में लिया जा सकता है। इसे पुनः अनुवादित नहीं करना पड़ता।

Post a Comment

और नया पुराने