सिस्टम टूल्स- डिस्क क्लिन अप, डिस्क फ्रेगमेंटर

सिस्टम टूल्स- डिस्क क्लिन अप, डिस्क फ्रेगमेंटर

डिस्क को क्लीन अप (साफ) करना 

अपने कंप्यूटर पर मौजूद अनवांछित (बेकार) फाइलों को रिमूव कर (हटाकर) आप अपनी डिस्क का स्पेस बढ़ा सकते हैं। 

  1. 'स्टार्ट' पर क्लिक करें। 
  2. 'ऑल प्रोग्राम्स' पर क्लिक करें।
  3. 'एसेसरीज' पर क्लिक करें। 
  4. 'सिस्टम टूल्स' पर क्लिक करें।
  5. 'डिस्क क्लीन अप' पर क्लिक करें। डिस्क क्लीन अप डायलॉग बॉक्स दिखाई देता है। 
    • यदि आपके कम्प्यूटर में एक से अधिक ड्राइव हैं तो 'ड्राइव सलेक्शन बॉक्स' दिखाई देता है। 
  6. जिस ड्राइव को आप क्लीन अप करना चाहते हैं, ड्राइव के डाउन ऐरो से आप उस हार्ड ड्राइव को क्लिक 
  7. 'ओके' पर क्लिक कर दें।
    • यह एरिया बताता है कि आप कितना स्थान क्लीन अप कर सकते हैं। 
    • यह एरिया फाइल के उस टाइप को डिस्पले करता है जिसे विंडो डिलीट कर सकती है। और यह प्रत्येक फाइल द्वारा यूज (इस्तेमाल) किए जा रहे स्पेस के बारे में बताता है। 
  8. विंडो किसी भी टाइप की उस फाइल को डिलीट कर देगी जिस पर चेकमार्क लगा होगा। चेकमार्क को लगाने अथवा हटाने के लिए आप फाइल के बराबर में मौजूद बॉक्स पर क्लिक कर सकते हैं।
    • यह एरिया सलेक्ट की हुई फाइलों का कुल स्पेस प्रदर्शित करेगा जिसे विंडो खाली करेगी। 
  9. फाइलों को डिलीट करने के लिए 'ओके' पर क्लिक कर दें।
    • एक डॉयलॉग बॉक्स दिखाई देगा और सुनिश्चित करेगा कि क्या आप वाकई इन फाइलों को डिलीट करना चाहते हैं। 
  10. परमानेंटली (स्थायी) रूप से इन फाइलों को डिलीट करने के लिए 'डिलीट फाइल्स' पर क्लिक कर दें। 

हार्ड डिस्क को डिफ्रागमेंट करना- 

अपनी हार्डडिस्क को डिफ्रागमेंट कर आप अपने कम्प्यूटर की परफोर्मेंस (कार्यविधि या क्षमता) को और अच्छा कर सकते हैं।

  • 1. 'स्टार्ट' पर क्लिक करें ।
  • 2. 'ऑल प्रोग्राम्स' पर क्लिक करें। 
  • 3. एसेसरीज' पर क्लिक करें।
  • 4. “सिस्टम टूल्स' पर क्लिक करें।
  • 5. 'डिस्क डिफ्रागमेंटर' पर क्लिक करें। 
  • 'डिस्क डिफ्रागमेंटर' विंडो दिखाई देती है।
  • 6. 'कंफिगर शिड्यूल' पर क्लिक करें। 
  • "डिस्क डिफ्रागमेंटर': 'मॉडीफाई शिड्यूल' डायलॉग बॉक्स दिखाई देता है। 
  • 7. 'रन ऑन ए शिड्यूल' (रिकमंडेड) के चेकबॉक्स पर क्लिक करें। 
  • 8. फ्रीक्वेंसी के डाउन एरो पर क्लिक कर उस फ्रीक्वेंसी को चुनें जिसमें आप डिफ्रागमेंट करना चाहते हैं जैसे (रोजाना, सप्ताह में या महीने में)। 
  • 9. 'डे' के डाउन एरो पर क्लिक करें और उसके बाद महीने के उस दिन पर क्लिक करें। 
  • 10. 'टाइम' के डाउन एरो पर क्लिक करें और उसके बाद महीने के उस टाइम पर क्लिक करें जिस पर आप डिफ्रागमेंट करना चाहते हैं। 
  • 11. 'ओके' पर क्लिक कर दें।
  • नया शिड्यूल यहां दिखाई देता है। 
  • 12. यदि आप अभी अपने कंप्यूटर को डिफ्रागमेंट करना चाहते हैं तो 'डिफ्रागमेंट नाठ' पर क्लिक कर दें। 
  • 13. 'क्लोज' पर क्लिक कर दें।

विण्डोज ऑपरेटिंग सिस्टम के अन्य प्रोग्राम

एसेसरीज (Accessories) - कम्प्यूटर में उपलब्ध सहायक फोल्डर्स को खोलने के लिए निम्न निर्देश दिया जाता है

Select Start →  Program → Accessories

(i) नोट पैड (Note Pad)- 

यह फॉस्मेटिंग न करने योग्य एक टेक्स्ट प्रोग्राम है जिसमें शीघ्रता से टेक्स्ट फाइल तैयार की जा सकती है। इसे निम्न प्रकार चालू किया जाता है

Select Start → Program → Accessories → Notepad

(ii) पेंट (Paint) 

यह एक ड्राइंग प्रोग्राम है जिसमें लाइन बनाना आकृति व अन्य चित्र आदि बनाये जाते हैं। इसके द्वारा लिखित सामग्री को ग्राफिक के साथ रखा जा सकता है। पेन्ट शुरू करने के लिए निम्न क्रम रखा जाता है। 

पेन्ट टूल बॉक्स (Paint Tool Box)

यह ड्राइंग करने के लिए व रंगों के साथ कार्य करने के लिए टूल प्रदान करता है। ब्लैक प्लैट (Black Plate) के तुरन्त नीचे स्टेटस बार (Status Bar) होता है जो यह बताता है कि सलैक्ट किया गया टूल का कार्य करता है।

  • Free from Select-इसमें अनियमित आकृति क्षेत्र का चयन किया जाता है। 
  • Select-इसमें आयताकार क्षेत्र का चयन किया जाता है। 
  • Brush-इसका उपयोग विभिन्न प्रकार की जगह चित्र बनाने में किया जाता है। 
  • Air Brush —यह ड्राइंग में बिन्दुओं को सुविधा प्रदान करता है। 
  • Curve-इसके द्वारा Curved line बनाई जाती है। 
  • Polygon विभिन्न सीधी रेखाओं द्वारा किसी भी आकृति का निर्माण किया जाता है। 
  • Elipse अण्डाकार आकृति का निर्माण किया जा सकता है। 
  • Rounded किसी आयत के किनारों को गोलाकार बनाया जा सकता है।
  • Eraser/Colour Eraser-Eraser टूल द्वारा किसी क्षेत्र विशेष को मिटाया जाता है। 
  • Fill with Colour-इसके द्वारा क्षेत्र द्वारा किसी आब्जैक्ट को रंगा जाता है। 
  • Magnifier-इसको सलैक्ट करके क्षेत्र विशेष को बड़ा किया जाता है। 
  • Pencil इसका उपयोग line बनाने में किया जाता है।
  • Text-यह लिखित कार्य करने की सुविधा प्रदान करता है। text पर क्लिक किया जाता है उक्त रंग पर क्लिक किया जाता है जिससे सलिखित कार्य करना चाहते हैं। उसके बाद text बाक्स को उस स्थान पर ले जाते हैं जहाँ पर उसे insert करना होता है। Font size व style पर क्लिक करते हैं। text Box पर उन्हें क्लिक करके टाइपिंग करते हैं। 
  • Line-इससे सीधी रेखाएँ खींची जाती है।
  • Rectangle-इसके द्वारा rectangle shape को line बनाई जाती है इसके लिए tool bar में से shape characterstic को चुना जाता है।
  • Colour Palette-विभिन्न उपलब्ध रंगों में से किसी रंग विशेष को छाटा जा सकता है व back ground रंग को भी परिवर्तित किया जा सकता है।

(iii) वर्ड पैड (Word pad)- 

यह अक्षरों को फॉर्मेट किए जाने योग्य एक शब्द संसाधन (Word Processing) प्रोग्राम है। यह एक वर्ड प्रोसेसिंग पैकेज है जो कि Window के साथ आता है इसका उपयोग फाइल को बनाने, edit करने तथा संभालने में किया जाता है। इसके अन्दर formatting करने की सुविधा भी उपलब्ध होती है। वर्ड पैड में निम्नलिखित फोरमेट उपलब्ध होते हैं

  • Rich text format (RTF), Text format, Word 6.0 format, Text-MS DOS format आदि। 
  • पैड को खोलने के लिए निम्न क्रम अपनाया जाता हैSelect Start=Programs==Accessories = Word Pad
  • चित्र में वर्डपेड विन्डो दर्शायी गयी है जिसमें Menu bar में निम्न विकल्प उपलब्ध होते हैं File, Edit, View, Insert, Format, Help

वर्ड पेड में दस्तावेज बनाना (Creating Document ion word Pad)

इस काम को तीन प्रकार से किया जा सकता है

1.शुरूआत से दस्तावेज को बनाना

  • Text area में क्लिक करके लिखें जाने वाली विषयवस्तु को टाइप करते हैं। 
  • Toolbar में उपलब्ध विभिन्न प्रकार के text formatting बटनों को काम में लेते हुए लिखे गये text को उपयोगकर्ता की इच्छानुसार सुन्दर बना सकते हैं।
  • इस दस्तावेज को संग्रह कर लेते हैं। 

2. क्लिप बोर्ड में उपस्थित सामग्री को insert किया जा सकता है

  • क्लिप बोर्ड के अन्दर किसी भी चयनित text अथवा ग्राफिक सामग्री को cut अथवा copy के द्वारा वर्तमान में : सक्रिय विन्डो के कार्यक्षेत्र में paste किया जा सकता है। 
  • इसके लिए वर्ड-पैड को चालू करते हैं तथा pointer से दस्तावेज के उस स्थान पर जाते हैं जहाँ पर कि Clip Board में उपस्थित सामग्री को पेस्ट करना होता है।

3. किसी आब्जैक्ट को insert करना

  • माउस पाइन्टर को सक्रिय कार्यक्षेत्र में उस स्थान पर ले जाते हैं जहां पर कि किसी आब्जैक्ट को insert करना होता है। इसके लिए निम्न क्रम रखा जाता हैं
  • Select Insert→ Object 
  • Select FileS → Create

अब ऑब्जैक्ट का नाम तथा वह किस स्थान पर उपलब्ध है आदि वितरण लिए जाते हैं। यदि File का पता आसानी से न लगे तो ब्राउस (Brose) आइकन के द्वारा आब्जैक्ट का पता लगाया जा सकता है। आब्जैक्ट आदि उपलब्ध होता है तो उसे सक्रिय दस्तावेज में क्लिक कर देते हैं।

(iv) कैलकुलेटर (Calculator)- 

गणनाओं के लिए प्रयुक्त होता है जिसका इस्तेमाल साधारण या वैज्ञानिक कैलकुलेटर की तरह किया जा सकता है।

(v) क्लिप बोर्ड (Clip Board)- 

यह एक व्यवस्था है जिसके माध्यम से किसी वस्तु चाहे वह टेक्स्ट हो, पैराग्राफ हो, चित्र हो या कुछ और को Cut या Copy करके रखा जाता है और उसका उपयोग उसी या किसी अन्य प्रोग्राम में Paste करके किया जा सकता है।

(vi) कैरेक्टर मैप (Character Map)- 

इसमें पूर्व निर्धारित कैरेक्टर के समूह में से एक या अधिक विशेष कैरेक्टर का उपयोग विण्डो के किसी अन्य प्रोग्राम में कर सकते हैं। 

(vii) गेम (Game)- 

विण्डोज ऑपरेटिंग सिस्टम में कुछ गेम प्रोग्राम भी होते हैं। ये मनोरंजन की सुविधा प्रदान करते हैं।

Post a Comment

और नया पुराने